• +(91) 7000106621
  • astrolok.vedic@gmail.com

Astrology and You

Astrology is not merely acknowledged as prophecy anymore but an esoteric language of ancient science. Purely mathematical calculations of celestial positions and their influence on our world that can help us to expand our vision and senses to better connect with the supreme cosmic energies that dwell in this vast multi-verse.This profound education has been a part of Indian heritage since forever. It was being utilized in identifying directions in several phases of life great personalities, and is still been nurtured by many aficionados who are pursuing it as a profession and educating others about the same.

About

know about Astrolok

We at Astrolok, pledge to teach diligent aspirers about the depths of studying celestial positions and energies that once was a very popular academic part in many civilizations. Hence, in lead up to this, we stepped in the educational process with our own institute, where we can impart this incredible knowledge of self-discovery with our students who ultimately can help many others in rising above their problems and lead a life of contentment through effective techniques.

Astrolok is been serving as a multi-purpose platform for budding astrologers, wherein its not just the education we impart with them but also provide them with a room for being a part of our expert clan. This will help them to give a kick-start to their career as an astrologer.

Daily Horoscope

Get forecasts of daily horoscope according to your birth astrological signs governed by their respective ruling planets.

Taurus (Vrushabh)

आज के दिन दैनिक कार्यो के अलावा धार्मिक कार्यो के लिये भी समय निकालेंगे परोपकार की भावना दिखावे की रहेगी दान पुण्य मतलब के लिये ही करेंगे। व्यवहारिक जगत के लिये आज आप नकारा ही सिद्ध होंगे। अपना कार्य साधने के लिये मीठे बनेंगे परन्तु किसी और का कार्य करने में क्रोध आएगा। कार्य-व्यवसाय से आज लाभ की उम्मीद अधिक रहेगी धन लाभ होगा भी आशाजनक लेकिन असमय होने उत्साहित नही करेगा। नौकरी वाले लोग जदबाजी में कुछ ना कुछ गड़बड़ करेंगे जिसके उजागर होने पर आलोचना होगी। पारिवारिक वातावरण गरिमामय रहेगा लेकिन परिजनों मन ही मन कुछ ना कुछ उधेड़ बुन में रहेंगे। घरेलू कार्यो की टालमटोल से बचे कलह हो सकती है। सेहत थकान को छोड़ सामान्य रहेगी।

Gemini (Mithun)

आज का दिन उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। दिन के आरंभ से ही शारीरिक शिथिलता सभी कार्यो में बाधा डालेगी फिर भी जबरदस्ती करना बाद में महंगा पड़ेगा। शारीरिक रूप से आज कुछ ना कुछ परेशानी लगी रहेगी मन अनर्गल प्रवृतियों में भटकेगा। घर अथवा व्यावसायिक कार्यो के प्रति लापरवाही करेंगे लेकिन फिर भी मनोरंजन की योजना बनायेगें। कार्य व्यवसाय से लाभ निश्चित होगा लेकिन किसी के सहयोग से ही। महिलाये भी आरोग्य में कमी रहने के कारण धीमी गति से कार्य करेंगी घर का वातावरण अस्त-व्यस्त रहेगा। आर्थिक दृष्टिकोण से दिन आशाजनक नही रहेगा फिर भी कर्म की तुलना में अधिक ही होगा। परिवार के सदस्य झुंझलाहट में बेवजह ही एक दूसरे से उलझेंगे। यात्रा टालें।

Cancer (Karka)

आज का दिन पिछले दिन की तुलना में बेहतर रहेगा लेकिन फिर भी आज दिमाग से सभी प्रकार के डर को दूर करके ही लाभ पाया जा सकता है। दिन के आरंभ से मानसिक रूप से हल्कापन अनुभव करेंगे मन मे विचित्र ख्याल चलते रहेंगे। व्यवसायी वर्ग आज जल्दी ही अपने कामो में जुट जाएंगे इसके विपरीत नौकरी वाले लोग पहले विलम्ब करेंगे बाद में कार्य खत्म करने की जल्दी रहेगी। काम-धंधा मध्यान बाद से गति पकड़ेगा आज कोई बड़ा निर्णय ना ही ले तो बेहतर रहेगा। बचकानी हरकतों से आस-पास का माहौल हास्यप्रद बनाएंगे परिवार में धन अथवा अन्य कारण चिता का विषय रहेंगे। संध्या बाद यात्रा पर्यटन की योजना बनेगी। सेहत में सुधार अनुभव होगा।

Leo (Sinh)

आज का दिन वृद्धिकारक रहेगा। जिस कार्य से कोई आशा नही रहेगी वहां से भी कुछ ना कुछ लाभ ही होगा। अकस्मात लघु यात्रा आने से दैनिक कार्यो में फेरबदल करना पड़ेगा। आलस्य से आज बचें एक बार किसी कार्य मे विलम्ब हुआ तो रात्रि तक यही क्रम जारी रहेगा। मध्यान बाद व्यस्तता बढ़ेगी व्यवसाय में अकस्मात उछाल आएगा लेकिन इसके अनुरूप आपकी तैयारी नही होने पर खासी मशक्कत करनी पडेगी फिर भी धन की आमद एक से अधिक मार्ग से होगी आर्थिक दृष्टिकोण से भविष्य के प्रति आज निश्चिन्त रहेंगे लेकिन घर मे किसी ना किसी से कलह होकर ही रहेगी। स्वास्थ्य मानसिक दुविधा के कारण सर दर्द अथवा अन्य छोटी मोटी परेशानी आ सकती है।

Virgo (Kanya)

आज आप स्वभाव से विवेक का परिचय देंगे इसके विपरीत घर का वातावरण बेवजह के झमेलों में डालेगा जिस कारण बाहर समय बिताना अच्छा लगेगा। दैनिक कार्य आज व्यवस्थित रहेंगे अधिक से अधिक धन कमाने की मानसिकता चैन से बैठने नही देगी। कार्य क्षेत्र पर अन्य दिनों की तुलना में ज्यादा व्यस्त रहेंगे फिर भी इसका लाभ आशाजनक नही मिलेगा। आज आप अनैतिक कार्यो से स्वयं ही दूरी बनाकर रहेंगे फिर भी प्रलोभन से स्वयं को बचाना बड़ी चुनौती रहेगी। धन की आमद अन्य दिनों की अपेक्षा सुधरेगी लेकिन घर मे फरमाइशें की सूची भी लंबी रहने के कारण तुरंत निकल जायेगा। सामाजिक कार्यो के प्रति उदासीनता व्यवहारिक जगत से दूरी बढ़ाएगी। स्वयं अथवा परिजन के स्वास्थ्य के ऊपर भी खर्च करना पड़ेगा।

Libra (Tula)

आज का दिन अशुभ फलदायी रहेगा। घर एवं बाहर की परिस्थितियां पल पल पर क्रोध दिलाएंगी इसलिये आज आपको अधिक से अधिक मौन रहने की सलाह है। कार्य क्षेत्र पर भी सहकर्मी अथवा किसी बाहरी व्यक्ति से तालमेल बिगड़ेगा आपको उनका एवं उनको आपका व्यवहार उद्दंड लगेगा जिससे कलह बढ़ेगी। गलती करने पर मान लें अन्यथा परेशानी बढ़ सकती है। आर्थिक रूप से भी दिन उतार चढ़ाव वाला रहेगा जिस लाभ के आप अधिकारी है उसे कोई अन्य ले जाएगा अथवा बहुत कम होने पर निराश होंगे। व्यवसायी वर्ग तगादा करते समय विनम्र रहें अन्यथा गरमा गर्मी में धन डूब सकता है। मन आज वर्जित और असंवैधानिक कार्यो में शीघ्र आकर्षित होगा। महिलाए घर का वातावरण जितना सुधारने का प्रयास करेंगी उतना अधिक बिगड़ेगा। सेहत में नई समस्या बनेगी।

Scorpio (Vrushchik)

आज का दिन सामाजिक एवं राजकीय कार्य के लिये अनुकूल है धन के साथ पद प्रतिष्ठा का भी लाभ मिलेगा। समाज के उच्चवर्गीय लोगो से जान पहचान होगी परन्तु इनसे तुरंत लाभ उठाने का प्रयास ना करें अन्यथा संबंधों में तुरंत खटास भी आ सकती है। सार्वजिक क्षेत्र पर आवश्यकता पड़ने पर ही बोले जल्दबाजी में कुछ अप्रिय बयानबाजी कर देंगे जिससे व्यक्तित्व में कमी आ सकती है। व्यवसायी वर्ग धन कमाने के चक्कर मे जल्दबाजी करेंगे परन्तु ध्यान रहे प्रतिस्पर्धा होने के बाद भी आज धैर्य रखने का परिणाम बाद में अवश्य ही लाभ दिलाएगा। धन की आमद संतोषजनक रहेगी खर्च करने में पीछे नही हटेंगे। घर का वातावरण गलतफहमी के कारण कुछ समय के लिये अशान्त बनेगा। जोड़ो अथवा मासपेशी संबंधित समस्या बन सकती है। यात्रा लाभदायक रहेगी।

Sagittarius (Dhanu)

आज के दिन परिस्थितियां विपरीत बनेगी पूर्व में बनाई योजना परिस्थिति वश अंत समय मे बदलनी पड़ेगी। जिस कार्य ने लाभ देख रहे थे वहां से लाभ तो होगा लेकिन आशा से बहुत कम। व्यवसायी वर्ग धन अथवा महंगी वस्तुओ संबंधित कार्य विचार कर ही करें हानि की संभावना आज अधिक है। धन के फंसने पर आगे के कार्य प्रभावित होंगे। नौकरी वाले जातक विषम परिस्थितियों में भी निश्चिन्त रहेंगे लेकिन घर के वातावरण में कुछ ना कुछ उथल-पुथल लगी रहेगी। धन की आमद प्रयास करने पर हो जाएगी लेकिन आवश्यकता की तुलना में कम रहेगी। महिला वर्ग भावुक कर खर्चा करवाएगी कर्ज बढ़ने के आसार है खर्च आज सोच समझ कर ही करे। सेहत में नया विकार आएगा।

Capricorn (Makar)

आज का दिन यादगार रहेगा। कई दिनों से मन में चल रही कामना की पूर्ति आज होने से अकस्मात खुशी मिलेगी। कार्य व्यवसाय में भी उन्नति के योग है जिस किसी कार्य को करेंगे उसमें स्वयं के बल पर ही सफलता पा लेंगे भागीदारी के कार्यो में बड़े निर्णय लेने से आज बचें अन्यथा तालमेल की कमी के कारण आपस मे फुट पड़ सकती है। महिलाए भ्रामक खबरों पर यकीन ना करें वरना घर का सुरम्य वातावरण छोटी सी गलतफहमी के कारण लंबे समय के लिये अशान्त बनेगा। धन की आमद सही समय पर होगी फिर भी आज संतोष की कमी रहने पर कुछ ना कुछ अभाव अनुभव करेंगे। व्यवहारिक संबंधों को छोड़ अन्य सभी कार्य में विजय मिलेगी। सेहत उत्तम रहेगी।

Aquarius (Kumbha)

आज का दिन धैर्य से बिताने में ही भलाई है। मेहनत करने पर तुरंत लाभ की आशा ना रखें आज किया परिश्रम का फल संध्या बाद से दिखने लगेगा लेकिन प्राप्ति में अड़चनें आएंगी आज की तुलना में कल दिन ज्यादा बेहतर रहेगा। आज केवल आश्वासनो से ही काम चलाना पड़ेगा। मध्यान तक का समय कार्य व्यवसाय के लिये उतार चढ़ाव वाला रहेगा इसके बाद परिस्थिति से समझौता कर लेंगे स्वभाव में संतोष बनेगा। धन अथवा अन्य किसी भी प्रकार के वादे ना करें पूरे नही कर पाएंगे उलटे आलोचना ही होगी। घर का कोई सदस्य जिद पर अड़ेगा जिससे कुछ समय के लिये शांति भंग होगी। महिलाए अपने कार्य छोड़ अन्य के कार्य मे मीन मेख निकालेंगी यह झगड़े का कारण बनेगा। बदन दर्द स्नायु तंत्र में दुर्बलता रहेगी।

Pisces (Meen)

आज का दिन कार्य सिद्धि वाला रहेगा जिस भी कार्य को करेंगे उसमे परिस्थितियां स्वतः ही अनुकूल बनने लगेंगी आवश्यकता के समय सहयोग भी आसानी से मिल जाएगा। अधिकांश कार्य सही दिशा और भाग्य का साथ मिलने से समय पर पूर्ण होंगे। कारोबारी लोग आज किया निवेश का लाभ निकट भविष्य में उठाएंगे फिर भी ज्यादा जोखिम ना लें। नौकरी वाले जातक आज अतिरिक्त कार्य आने पर असहज अनुभव करेंगे सहयोग भी कम मिलेगा फिर भी अपने पराक्रम से थोडे विलम्ब से विजय पा लेंगे। धन की आमद दोपहर बाद निश्चित होगी अतिरिक्त खर्च भी होंगे। गृहस्थ का माहौल पल-पल में बदलने से तालमेल बैठाने में परेशानी होगी। परिजनों के लिये समय निकालें अन्यथा मतभेद हो सकते है। स्वास्थ्य सामान्य रहेगा।

Article

Looking for answers to your problems? We present you the finest assortment of informational articles meant for beginners and advanced learners alike. After years of study and practice, our experts are here to guide you for self-dealing with situations using impeccable remedies.

बुद्ध पूर्णिमा पर बनेगा सम सप्तक राजयोग !!

vastu
*बुद्ध पूर्णिमा पर बनेगा सम सप्तक राजयोग*

18 मई शनिवार, बैशाख माह, शुक्लपक्ष, पूर्णिमा तिथि, विशाखा नक्षत्र में बुद्ध पूर्णिमा मनाई जायेगी। पूर्णिमा तिथि 18 मई को सुबह 4:10 बजे से प्रारम्भ होकर 19 मई सुबह 2:41 बजे तक रहेगी।

इस बार बुद्ध पूर्णिमा पर सम सप्तक राजयोग बन रहा है। पूर्णिमा तिथि पर देव गुरु बृहस्पति व नवग्रहों के राजा सूर्यदेव आमने सामने रहेंगे। इस योग से सभी कार्यो में स्थायित्व के साथ प्रगति मिलेगी। बुद्ध पूर्णिमा बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए सबसे बड़ा दिन माना जाता है।

मान्यता है कि भगवान विष्णु ने अपना 9 वां अवतार इस दिन भगवान बुद्ध के रूप में लिया था। इसलिए ये दिन बुद्ध पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। इसी दिन भगवान बुद्ध को बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी। विश्वभर में बुद्ध के अनुयायी इस दिन को बुद्ध जयंती के रूप में मनाते है। इस बुद्ध पूर्णिमा को गौतम बुद्ध की 2581 वीं जयंती मनाई जाएगी।
     
बैशाख की बुध पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करने से जन्मो-जन्मो के पापों से मुक्ति मिलती है, और जीवन मे सुख शांति का संचार होता है। इस दिन चंद्रमा की पूजा करनी चाहिए। उन्हें अन्न,गुड़, फूल, धूप, दीप व जल चड़ाकर पूजा करके जल से भरा घड़ा और पकवान ब्राहमण को दान में देना शुभ माना जाता है।

*गौतम बुद्ध ने विश्वशांति स्थापित की*

मान्यताओ के अनुसार भगवान बुद्ध का नाम सिद्धार्थ था। बैशाख पूर्णिमा के दिन राजकुमार सिद्धार्थ का जन्म लुम्बिनी में हुआ था। राजकुमार सिद्धार्थ कपिलवस्तु के राजकुमार थे। उनकी माता का नाम महामाया और पिता का नाम शुधोदन था। भगवान बुद्ध ने शांति की खोज में 27 वर्ष की आयु में घर-परिवार , राजपाठ सब छोड़ दिया था। काशी के समीप सारनाथ में भगवान बुद्ध ने धर्म परिवर्तन किया था। जहाँ उन्होंने बोध गया में बोधि वृक्ष के नीचे कई सालों तक कठोर तप किया। उनकी इस कठोर तपस्या के बाद सिद्धार्थ को बुद्ध पूर्णिमा के दिन बुद्धत्व ज्ञान की प्राप्ति हुई। वह महान सन्यासी गौतम बुद्ध के नाम से प्रचलित हुए, और विश्व को शांति का उपदेश देकर शांति स्थापित की।
ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा


read more

Rahu:The Demon with a Difference (Part-5)

vastu
The manifestation of Rahu in our realm is both in animate and inanimate form. Basically, everything hidden, paranormal, out of the blue, social outcaste, downtrodden, against the decorum, addictive, alien and enigmatic stuff is the gift of Rahu.

The inanimate representative of Rahu is Space itself. The unknown world beyond our skies, totally alien to our mother planet earth. Some classify the sky as Rahu too but I'm not sure. Rahu is best seen in smoke. In fact, Rahu is described as windy and grey just like the smoke from an earthen stove (chulha in Hindi). Rahu is the smoke from the cigarette flake too. Rahu is quick as lightning, appearing in a jiffy and disappearing in another moment. Therefore, lightning, electricity, social media (though it's connected with mercury too as it helps in calculations and communications) is ruled by Rahu. Rahu is the owner of virtuality, illusion, and puzzles. Darkness, activities carried out in dark, space technology, heavy machinery, lottery, gambling, money laundering, watch and clock manufacturing, etc. are the activities of Rahu.

In my personal opinion, Rahu is a kind of kinetic energy which has a hypnotic effect on animate and inanimate alike. The best illustration of this can be CINEMA. Cinema being a virtual world is controlled by Rahu. Now, let's see how this works when we enter the cinema halls, the entire place is engulfed by darkness which is Rahu. Only the cinema screen is lighted playing virtual world of the cinema movie. The movie hero jumps off a cliff to save the heroine, now all the people in the theatre are sane enough to understand that this is impossible in reality but Rahu and it's Maya working perfectly in that atmosphere convinces everyone that the scene is true. Result: audience applauds the stunt, cheers, claps, and whistles Rahu has hypnotized us to believe into such a superhuman feat while in the back of our heads we know this is impossible. 

Rest in next part If you are interested in writing articles related to astrology then do register at - https://astrolok.in/my-profile/register/ or contact at astrolok.vedic@gmail.com
read more

Rahu:The Demon with a Difference (Part-4)

vastu
In my previous post, I have clearly mentioned that "the mentioned things are all conditioned to the individual charts." Hence, readers can imagine that each chart has its own particular PACS, that's the reason I am not mentioning aspects, conjunctions, etc. separately. 
In order to synchronize with Rahu we need to analyze his modus operandi in details plus his intentions behind the actions.
Rahu gives a lot of desires according to the PACS/chart. The desires which were unfulfilled in the previous births and Rahu reminds us of those desires so that we can do karma accordingly. These desires and karma will keep us linked to this illusionary world of Maya. This is just a superficial analysis of Rahu and his role in our lives.
In reality, Rahu has a far more important role. 
Rahu when benefic spoils the native with excessive indulgence but in reality he wants the native to control himself. He is testing his self-control. Remember, Rahu is related to poisons too, but poison in CONTROLLED dose works as a MEDICINE. This is what Rahu wants you to learn "SELF CONTROL".
Malefic Rahu keeps on obstructing the path of the native to teach him the most important lesson of life "PATIENCE". Everything will come to you at the right time. Rahu MD native usually suffers a loss of family members and fraud from near and dear ones which prepares the native to face the world on its own. Rahu MD gives a self-made personality. Rahu makes the native to commit mistakes only to develop our discretion of right and wrong. The losses during Rahu MD makes the native stronger. To make most of the Rahu MD we need to appease Rahu. For this, we need to know how Rahu manifests itself in this realm of human inhabitation.  

Rest in next part If you are interested in writing articles related to astrology then do register at - https://astrolok.in/my-profile/register/ or contact at astrolok.vedic@gmail.com

read more

Rahu:The Demon with a Difference (Part-3)

vastu
As the native becomes more and more self obsessed he/she slips away into depression. 
If the chart favors native sulks away into extreme depression and starts hallucinating things such as the sighting of spirits, ghosts, being bribed by the devil, etc. Hence, it's clear why Rahu MD native usually complains of supernatural intervention in their lives. Some natives tell stories of UFO and alien abduction too. If not treated these natives become suicidal. 
As natives are already suffering from psychological problems they try to find solace in escaping from reality. 
This escapade can be found in the addiction of alcohol, gambling, Derby, smoking or drugs abuse. Other forms of addiction can be found in video games, social media obsession and addiction to adult content found on the Web. As Rahu rules the virtual world, online love affairs, online gambling addiction can lead the native to become a victim of online frauds eventually increasing his melancholy mental health. Sometimes Rahu if in a milder malefic state then the native tends to escape reality by imagining scenes in their minds and living in a world of their own. Such escapades never change the reality but make native "unworthy" in the eyes of society. People take them as sluggish and stupid or sometimes people can never understand what kind of a person the native actually is. On the spiritual side, Rahu tempts a native to question everything. He is drawn towards atheism. As he loses touch, with the divinity making him weaker spiritually. Thus, Rahu drains away from the native physically, psychologically and spiritually. The above-mentioned things are all conditioned to the individual charts. The conditions mentioned are mild to extreme i.e. common to rarest. 
However, everything has a positive side too. First of all, as I said previously Rahu is not a villain. We can steer all the negativity into practical use if we can synchronize with Rahu.  

Rest in next part If you are interested in writing articles related to astrology then do register at - https://astrolok.in/my-profile/register/ or contact at astrolok.vedic@gmail.com

 
read more

शनि जयंती पर करे शनि दोष मुक्ति!!

vastu
*शनि जयंती पर वक्री शनि देव देंगे शनि दोष से मुक्ति*

शनि जयंती ज्येष्ठ मास की अमावस्या 3 जून सोमवार को रोहणी नक्षत्र, सुक्रमा योग में मनाई जाएगी। अमावस्या तिथि 2 जून सायं 4:39 से प्रारंभ होकर 3 जून सायं 3:31 बजे तक रहेगी।
इस बार शनि जयंती सोमवार सोमवती अमावस्या का विशेष योग बन रहा है। जो कि 4 वर्ष पहले 18 मई 2015 को बना था। शनि जयंती का पर्व सोमवार को होने से भगवान शिव व शनिदेव दोनो की प्रसन्नता के लिए उपाय कर सकते है। इस दिन भगवान शिव की साधना व शनिदेव की आराधना करने से मानसिक शांति ढय्या व साढेसाती से प्रभावित जातको को राहत मिलेगी।
इसी के साथ इन दिनों शनि भी वक्री गति से चलने के कारण जो लोग शनि दोष से पीड़ित है उन्हे शनि जयंती पर शनि की पूजा व व्रत करने से शनि दोष से मुक्ति मिलेगी।
शनि देव मकर व कुम्भ राशि के अधिपति है। इस समय धनु राशि मे विद्यमान है जिससे वृश्चिक राशि, धनु राशि, मकर राशि, वृषभ राशि व कन्या राशि वाले जातकों को शनि जयंती पर व्रत व शनि पूजा से अधिक लाभ होगा।

*शनि देव को प्रसन्न कैसे करे*
शनि जयंती पर शनि की प्रिय वस्तुओं का दान करना चाहिये, जैसे काला कपड़ा, काली सबूत उडद की दाल, छाता, जूता, लोहे की वस्तुएं व सरसो का तेल आदि दान करने से शनि देव प्रसन्न होते है और इनकी वक्री गति के अशुभ फलों से छुटकारा मिलता है एवं शनि दोषो से मुक्ति मिलती है।
     शनि जयंती पर शनि के मंत्र ॐ शं शनैश्चराय नमः का कम से कम एक माला जाप जरूर करे। गरीब व निःशक्त लोगो को भोजन कराना व कुष्ठ रोगियों को उडद की दाल के मंगोड़े, कचोड़ी का दान देना चाहिए जिससे शनिदेव प्रसन्न होते है।

*शनि जयंती पर शनि पूजा विधि*

शनि जयंती के दिन उपवास रखा जाता है। प्रातःकाल नित्यकर्म के पश्चात स्नानादि से स्वच्छ होकर, एक लकड़ी के पाट पर साफ सुथरे काले कपड़े को बिछाये, इस पर शनि देव की तस्वीर या एक सुपारी रखकर उसके आसपास सरसो के तेल के दीपक व धूपबत्ती जलाये। सिंदूर, काजल व नीले फूल शनि देव को अर्पित करे। इमरती, काले तिल, उडद की दाल व सरसो का तेल अर्पित करे। पूजन के पश्चात शनि मंत्र की एक माला का जप करे व शनि चालीसा का पाठ करे। फिर शनिदेव की आरती उतारकर पूजा सम्पन्न करे।
ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा
अधिक जानकारी के लिए देखे यूट्यूब चैनल "Astro sunil chopra"

Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register
read more

भगवान विष्णु के पुजन एवं विभिन्न वस्तुओं के अर्पण का फल!!

vastu

नृसिंह स्वरुप भगवान विष्णु को निर्माल्य हटाकर जल से स्नान कराने से मनुष्य सब पापों से मुक्त हो जाता है तथा संपूर्ण तीर्थों के सेवन के फल प्राप्तकर , विमान पर आरूढ़ होकर स्वर्ग को चला जाता है और वहां से श्रीविष्णुधाम को प्राप्त होकर अक्षयकालपर्यंत आनंद का उपभोग करता है |

" भगवन नरसिंह ! आप यहाँ पधारें "- इस प्रकार अक्षत और पुष्पों के द्वारा यदि भगवान का आवाहन करें तो इतने से भी वह मनुष्य सब पापों से मुक्त हो जाता है | देवदेव नृसिंह को विधिपूर्वक आसन , पाद्य (पैर धोने के लिए जल ) , अर्घ्य (हाथ धोने के लिए जल ) , और आचमनीय (कुल्ला करने के लिए जल ) अर्पण करने से भी सब पापों से छुटकारा मिल जाता है |


भगवान नृसिंह को दूध और जल से स्नान कराकर मनुष्य सब पापों से मुक्त  हो विष्णुलोक  में प्रतिष्ठित होता है | जो एक बार भी भगवान को दही से स्नान कराता है , वह मनुष्य निर्मल एवं सुन्दर शरीर को धारण  करके सर्वरों में पूजित होता हुआ विष्णुलोक को जाता है | जो मनुष्य मधु से भगवान को नहलाता हुआ उनकी पूजा करता है , वह अग्निलोक में आनन्दोपभोग करके पुनः वैकुण्ठधाम में निवास करता है | जो स्नान कल में श्रीनरसिंह के विग्रह को शंख और नगारे का शब्द कराते हुए विशेष रूप से घी से स्नान कराता है , वह पुरुष पुराणी केंचुल को छोड़ने वाले सांप की भांति पाप-कंचुक को त्यागकर दिव्य विमान पर आरूढ़ होकर , विष्णुलोक में प्रतिष्ठित होता है |


जो देवदेवेश्वर भगवान को भक्तिपूर्वक मंत्रपाठ करते हुए पंचगव्य से स्नान कराता है , उसका पुण्य अक्षय होता है | जो गेहूं के आंटे से देवदेवेश्वर भगवान को उबटन लगाकर गरम जल से उन्हें स्नान कराता है वह वरुणलोक को प्राप्त होता है | जो भगवान के पादपीठ (पैर रखने के पीढ़े , चौकी या चरणपादुका )- को भक्तिपूर्वक बिल्वपत्र से रगड़कर गरम जल से धोता है , वह सब पापों से मुक्त हो जाता है | कुश और पुष्प मिश्रित जल से भगवान विष्णु को स्नान कराने से मनुष्य ब्रह्मलोक को प्राप्त होता है | रत्नयुक्त जल से नहलाने पर कुबेरलोक को प्राप्त होता है | जो कपूर और अगर मिश्रित जल से भगवान नृसिंह को नहलाता है , वह पहले इंद्रलोक में सुखोपभोग करके फिर विष्णुधाम में निवास करता है | जो पुरुषश्रेष्ठ तीर्थों के पवित्र जल से गोविन्द को भक्तिपूर्वक स्नान कराता है , वह आदित्यलोक को प्राप्त करके पुनः विष्णुलोक में पूजित होता है | जो भक्तिपूर्वक भगवान को युगल वस्त्र पहनाकर उनकी पूजा करता है , वह चंद्रलोक में सुखभोग करके पुनः विष्णु धाम में सम्मानित होता है |


Astrolok is one of the famous astrology institute based in Indore where you can learn vedic astrology, marriage astrology, nadi astrology,horoscope matching through live vedic astrology classes. It is a free platform to write astrology articles. Become a part of it by registering at https://www.astrolok.in/index.php/welcome/register


read more

Reports

Astrolok Videos

Visual memories always last longer than any other kind and keeping that in vision, we have created high-quality videos where our experts will elucidate on the subject in detailed manner. It is customized in a viewer-friendly way to avoid complexities so that our browsers find it captivating.

How to Read Horoscope in Vedic Astrology | कुंडली कैसे देखे | PART-8

Join Astrolok by registering yourself at https://www.astrolok.in/index.php/wel...... For more details, visit our website - http://www.astrolok.in/ Follow us on Twitter- ...

How to Read Palm | Palmistry Introduction | Learn Palmistry Online |

Join Astrolok by registering yourself at https://www.astrolok.in/index.php/welcome...... For more details, visit our website - http://www.astrolok.in/ Follow us on ...

How to Read Horoscope in Vedic Astrology | कुंडली कैसे देखे | PART-7

Join Astrolok by registering yourself at https://www.astrolok.in/index.php/welcome... For more details, visit our website - http://www.astrolok.in/ Follow us on ...

View More

our experts

With years of experience and specialization in the field, we are accompanied by renowned savants of astrology. Their dexterous ways of teaching the subject will help you learn all crucial information that will help you throughout your time.
View More

COURSES packages

Astro Mani

6

month course

  • Lectures: Two lectures in a week for 1:30-2 hours
  • Language: Hindi & English
  • Yoga and doshas
  • Dasha and Transit
  • Marriage&children Astrology
  • Medical Astrology
  • Career Astrology
  • Remedial Astrology
View

Astro Shiromani

6

month course

  • Lectures: Two lectures in a week for 1:30-2 hours
  • Language: Hindi & English
  • Education Astrology
  • Relationship Astrology
  • Astakvarga Technique
  • Krishnamurthi Technique
  • Lal Kitab
  • Remedial Astrology
View

Vastu Mani

6

month course

  • Lectures: Two lectures in a week for 1:30-2 hours
  • Language: Hindi & English
  • Selection of Land
  • VastuVedh
  • Placement in home/office
  • Home decoration
  • Astrology and Vastu
  • Vastu dosha
View